The Bilasa Times

छत्तीसगढ़ की तमाम खबरें

Breaking

Friday, May 15, 2020

विज़डम ट्री फाउंडेशन के स्वयंसेवक ऋषभ शर्मा ने किया चंडीगड़ में फसे कवर्धा के राजपूत परिवार की मदद.


बिलासपुर देशव्यापी COVID-19 में देश भर मेें प्रवासी मजदूरों और लोग फंसे हुए हैं ऐसे में कुुुछ संगठन,संस्था के लोग उनके लिए देवदूत बनकर खड़े हुए हैं।उनमें से एक छत्तीसगढ़ बिलासपुर केे द विज़डम ट्री फॉउंडेशन के स्वयंसेवक ऋषभ शर्मा है जिन्हे रात 11.30 बजे एक फ़ोन आया, जिसमे से रोते हुए व्यक्ति ने मदद की गुहार लगानी शुरू कर दी, उसकी इस गुहार को सुनते ही ऋषभ शर्मा उस व्यक्ति को साहस देने लगे और अपना परिचय एवं समस्या जाहिर करने को कहा।व्यक्ति ने अपना परिचय चित्रसेन राजपूत बताया और चंडीगड़ में लॉकडाउन में फसे होने से अपने दो भाइयों के साथ रहने और भूखे होने की बात बताई। उनकी इस तकलीफ को सुनने के बाद ऋषभ का दिल भर आया और अपने सूत्रों के माध्यम से चंडीगढ़ में नजदीकी थाना में बात कर उनके रहने और खाने की व्यवस्था की। जैसे ही प्रंधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने लॉकडाउन 3.0 में प्रवासी मजदुरो के अपने-अपने प्रवास को जाने का स्वीकृति दी ऋषभ शर्मा ने उन मजदुरों का पठानकोट से चाम्पा की ट्रेन में उनका रिजर्वेशन कराया। उनके चाम्पा पुहुचने पर वहाँ के COVID-19 के स्टेशन प्रभारी से बात कर उनके रहने की व्यवस्था कराई और वो अभी सरकारी क्वारंटाइन में है।और कुछ दिनों बाद उन्हें गृह-ग्राम भेजने की सम्पूर्ण व्यवस्था कर दी है। सवयंसेवक ऋषभ शर्मा द्वारा ऐसे ही अनेक परिवारों को उनके जरूरत के अनुसार राशन, आर्थिक एवं अपने-अपने प्रवास पहुचने हेतु सहायता प्रदान कर रहे है।
वही दूसरी ओर द विज़डम ट्री फाउंडेशन द्वारा अन्य प्रदेशो से अपने-अपने घरो को लौट रहे अप्रवासी मजदूरो के भोजन की व्यवस्था कर रहे है।देशव्यापी COVID-19 के लॉकडाउन 3.0 के 24 घंटे बिलासपुर-रायपुर मार्ग के भोजपुरी टोल नाका में भोजन की व्यवस्था में जुटे द विज़डम ट्री फाउंडेशन के स्वयंसेवक अंकित दुबे, ऋषभ शर्मा, विनय डे, अनिरुद्ध जायसवाल, अमन गुप्ता, ऋषि गौतम, नयन  मौर्य, अर्पण अग्रवाल, सोहेल खान, आशीष भोसले, अभिजीत भट्टाचार्य एवं रोहित सहयोग कर रहें हैंं।

Post by the bilasa times 

No comments:

Post a Comment

Adbox