The Bilasa Times

छत्तीसगढ़ की तमाम खबरें

Breaking

Sunday, May 24, 2020

बिलासपुर के निजी अस्पताल में 2 वार्ड बॉय के उपर लगा अनाचार का आरोप,जांच में सामने आयेगी सच्चाई.


- मानवता को शर्मसार करने का मामला..आया सामने।
- बिलासपुर के निजी अस्पताल में दुराचार का आरोप।
- पुलिस में दर्ज हुआ मामला।
- शहर विधायक शैलेश पाण्डेय ने प्रबंधन,परिजन से की मुलाकात।
- अज्ञात के खिलाफ एफ आई आर दर्ज।
- बारीकी से जांच के बाद पुरी सच्चाई सामने आ सकती है।
- पुलिस कर रही छानबीन।
- अस्पताल में काम करने वाले 2 वार्ड बॉय पर आरोप।
- लड़की ने चिट्ठी लिख पिता से की शिकायत।
- अस्पताल के डाक्टर भी जांच में पुलिस को दे रही पुरा सहयोग।
- परिजन ने कि निष्पक्ष जांच की मांग।

संजय यादव
बिलासपुर  छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में एक निजी हॉस्पिटल में इंजीनियरिंग की छात्रा का उपचार चल रहा है।जिसकी जहरीला पदार्थ के खानेे से तबीयत खराब होने पर अस्पताल में भर्ती कराया गया। अस्पताल प्रबंधन को जब पता चला कि  जहर के कारण तबीयत खराब हुई है तो इसकी शिकायत थाना में कराया गया।।इसी बीच इलाज के दौरान उसके साथ गैंगरेप होने का मामला सामने आया है। इस घटना के सामने आते ही शहर में सनसनी फैल गई है। इस घटना में पुलिस बेहद गंभीरता के साथ तहकीकात कर रही है।इस मामले के सामने आते ही प्रबंधन से लेकर पुलिस प्रशासन तक सभी अचंभित हुए हैं।दरअसल 20 और 21 मई के दरमियानी रात छात्रा अस्पताल के आईसीयू में भर्ती थी। जैसे ही उसके के साथ दुुष्कर्म होने की खबर निकल कर सामने आई सभी सतर्क हो गये। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार युवती के साथ गैंगरेप होने की बात कही जा रही है।हालांकि पुलिस अब इस मामले की जांच कर रही है। लड़की के मेडिकल टेस्ट के आधार पर ही आगे की कार्रवाई होगी।
                       हकीकत क्या है वो जांच के बाद ही सामने आयेेेगी-क्योंकि जिस अस्पताल के वार्ड बाय पर आरोप लगा है वह अस्पताल सुरक्षा व्यवस्था,चिकित्सा व्यवस्था के लिए शहर में एक अलग ही पहचान बनाया हुआ है। जिस पर इस तरह के गंभीर आरोप लगना सोचने वाली बात है साथ ही साथ यह भी सोचने का विषय है कि आईसीयू में और भी मरीज थे सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं।आईसीयू के गेट के पास हमेशा गार्ड तैनात रहते हैं।।फिलहाल पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।और जांच में जुटी गई है।

डाक्टर के मुताबिक - कीटनाशक के दुष्परिणाम से बचाने मरीज़ को विभिन्न प्रकार की दवाएं दी जाती हैं,जैसे एक दवा एट्रोफिन है।जिसके लगने से मरीज को साईकोशिश या हेलोशिनेशन होता है ऐसी स्थिति में मरीज बहकी बहकी बातें भी करता है। उसे अर्धचेतना में कई कल्पनाएँ कराता है।

                          वही जिस युवती ने गैंगरेप होने का आरोप लगाया है वह पिछले 3 दिनों से आईसीयू में एडमिट है।अस्पताल प्रबंधन के हवाले से यह बताया जा रहा है की युवती की स्थिति गंभीर होने की वजह से उसे आईसीयू में रखा गया है। साथ ही सीसीटीवी फुटेज और काम के दौरान मौजूद लोगों के बयान भी कराए जा चुके हैं। इन सब के आधार पर युवती के साथ गैंग रेप होने की संभावना जांच के बाद ही पता चलेगा।अगर जांच में सही पाया जाता है तो कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए, बरहाल बिलासपुर पुलिस इस पूरे मामले की,तहकीकात बेहद गंभीरता और सजग रहते हुए कर रही है।
                        इस पूरे मामले को लेकर बिलासपुर शहर के विधायक शैलेश पांडये अस्पताल पहुंचे वहां उन्होंने प्रबंधन और परिजनों से मुलाकात की इसके बाद मीडिया से चर्चा करते उन्होंने कहा की,अगर इस तरह का कृत्य सही पाया जाता है तो ये जघन्य अपराध है। ऐसे अपराध को अंजाम देने वालों पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।वहीं उन्होंने यह भी कहा कि, सबसे पहले युवती के बेहतर उपचार के लिए उसे दूसरे अस्पताल में दाखिल कर देना चाहिए। ताकि पूरे मामले की निष्पक्षता से जांच हो सके। विधायक शैलेश पांडेय इस मामले को मानवता को शर्मसार करने वाला करार दिया है।
गौरतलब हो की इस पूरे मामले की शिकायत प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से भी हो चुकी है। इस मामले में उन्होंने गंभीरता दिखाते हुए मामले की निष्पक्ष जांच के निर्देश दिए हैं।
अब देखना यह होगा की पुरे इस मामलें में,जांच के बाद सच्चाई क्या निकलकर सामने आयेगी।और न्याय की सुई किसके तरफ घुमती है।
#thebilasatimes

No comments:

Post a Comment

Adbox